Internat कैसे बना? - HindiUser


हेलो दोस्तो! Hindi User में आपका स्वागत है। आज मे आपको बताउंगा  की INTERNET कैसे बना हमने हमारी पिछली पोस्ट में बताया था की ईमेल और जीमेल में क्या अंतर है? उम्मीद है वो पोस्ट आपको पसंद आई होगी | तो चलिए जानते है ईINTERNET कैसे बना

इन्टरनेट आज के समय हमारे जिंदगी का बहुत ही अगत्य का हिस्सा बन चुका है आज के समय में इन्टरनेट के बिना Computer, Laptop, Mobile एक दबा है एक समय था जब पुरी दुनिया में इन्टरनेट का उपयोग बहुत कम होता था लेकिन आज के समय में इन्टरनेट का उपयोग बहुत ही ज्यादा है आप कल्पना भी नहीं कर सकते हैं और आनेवाले समय में INTERNET का Use ओर भी बढ़ने वाला है internet पर आज के समय में हर सेकंड हजारों लोग search करते हैं, और फोटो, विडियो अपलोड करते हैं और हर सेकेंड हजारों लाखों रुपए को ट्रान्सफर किया जाता है अगर इन्टरनेट एक सेकंड के लिए बंद या रुक जाएं तो लाखों हजारों करोड़ों का नुक़सान हो सकता है इन्टरनेट क्या है और इन्टरनेट का क्या Use है ये हम सब जानते है लेकिन यहां पर एक सवाल उठता है कि इन्टरनेट का आविष्कार कैसे हुआ ये जानना चाहतें होतो आर्टिकल को पुरा पढे तो चलिए जानते हैं इन्टरनेट कैसे बना

जरुर पढें : घर बैठे इन्टरनेट से ओनलाइन पैसे कमाने का तरीका

internet kaise bana

INTERNET कैसे बना?


1958 में U.S के President Dwight David ने DARPA को बना दिया Advance Research Projects Agency (ARPA). यहां पर ARPA बनाने के पीछे मेन मकसद था अपने देश को दुसरे देश के मुकाबले Science & Technology में आगे बढ़ाना उस वक़्त Computer का साइज़ बहुत बड़ा था और उस Computer को रखने के लिए एक कमरे की जरूरत पड़ती थी लेकिन आज के समय में एक छोटा-सा लेपटॉप होता है कंप्यूटर होता है जो छोटी सी जगह को ही घेरता था

उस वक़्त Computer का साइज़ बहुत बड़ा था और उस रखने के लिए एक कमरे की जरूरत पड़ती थी उस वक़्त Compute में मेग्नेटिक टेप का उपयोग किया जाता था और मल्टीप्ल कंप्यूटर को एक नेटवर्क के जरिए कनेक्ट करने का कोई तरीका नहीं था इसी के चलते ARPA ने सोचा कि कुछ ऐसा बनाया जाएं जिससे मल्टीप्ल कंप्यूटर को एक नेटवर्क के जरिए कनेक्ट किया जाएं

bbn technologies

यहां पर ऐसा नेटवर्क बनाने के लिए ARPA ने एक Technology Company का सहारा लिया जिसका नाम था BBN Technologies जिसका मेन मकसद था चार अलग-अलग Computer जिसमें अलग-अलग तरह के ओपरेटिंग सिस्टम थे उन सभी Computer को एक नेटवर्क के जरिए कनेक्ट किया जाएं और इस नेटवर्क का नाम दिया गया ARPANET और यह नेटवर्क सबसे पहला नेटवर्क बन गया
arpanet

आज के समय आप जो कुछ भी Internet Use कर पा रहे उसमें जो TCP/IP Protocol लगाया जाता है वो सभ ARPA की देन है और आगे ARPANET पे काम चलता रहा

packet radio net

सन 1973 में इंजीनियर ने सोचा क्यु ना ARPANET को PRNET यानि की Packet Radio NET से कनेक्ट किया जाएं Packet Radio NET में रेडियो ट्रांसमीटर ओर रिसिवर का उपयोग किया जाता है दो Computer को कनेक्ट करने के लिए यहां पर काम चलाता रहा और 3 साल बाद दो computer को फाइनल ही कनेक्ट किया गया

फिर यहां पर क्या हुआ दो नेटवर्क को सक्सेसफुली कनेक्ट होने के बाद करीब 1 साल बाद इन दो नेटवर्क को SATNET यानि की सेटेलाइट नेटवर्क से कनेक्ट किया गया जो बहुत ही जरूरी था तो यहां पर मल्टीपल नेटवर्क यहां पर कनेक्ट हो रहे हैं जिसको INTER-NETWORKING जिसको हम आज के समय में हम INTERNET कहते हैं जैसे ही ये सक्सेसफुल हुआ वैसे ही कइ सारे नेटवर्क इससे कनेक्ट किए गए


hindi user

सन् 1989 मे टिम बनसलीने एक ऐसा सिस्टम डिजाइन किया जिससे आप जो कोई भी इन्टरनेट पे जिजे है उसको आप आसानी से एक URL की मदद से ढुंढ सकते हो सर्च कर सकते हो जिसे नाम दिया गया www(World Wide Web) आज के समय में आप जो भी इन्टरनेट पे सर्च कर हो उसमें www सबसे पहले लिखा हुआ जरुर दिखाई देता है तो यहां पर ये सब महेरबानि टिम बनसली की है

आज के समय में हर एक इलेक्ट्रॉनिक जिज आसानी से इन्टरनेट से कनेक्ट हो जाती है और आने वाले समय में हर एक जिज इन्टरनेट से कनेक्ट हो जाएगी और हम उसको इन्टरनेट की मदद से ही Use कर पाएंगे तो दोस्तों इस तरह से इन्टरनेट की शुरुआत हुई और हम सभी लोग आज के समय में इन्टरनेट Use कर पा रहे है

जरुर पढें : मोबाइल पर लाइव क्रिकेट मैच देखने के Top 10 Best Android Apps

मेरी अंतिम बात इस आर्टिकल में

दोस्तों आशा करता हूं कि आपको INTERNET कैसे बना इसकी जानकारी हमारे आर्टिकल से आपको मिल गई होगी आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा आप निचे Comment कर के बताइए.

अभी बी कोई सवाल आप पूछना चाहते हो तो निचे Comment Box में जरुर लिखे में आपको उसका जवाब देने की पुरी कोशिश करुंगा

जाने से पहले इस आर्टिकल को शेयर करे जीसे इसकी जानकारी लोगों को मिले

हमारे Blog को अभी तक अगर आपने Subscribe नहीं किया हैं तो जरुर Subscribe करले जीसे मे कोई भी नई पोस्ट डालु इसकी नोटीफिकेशन आपको मिले जय हिंद, जय भारत, धन्यबाद!


"जय हिंदवन्देमातरम"

Post a Comment

2 Comments